Breaking News :

रामविलास पासवान: सुर्ख़ियों के बावजूद ठौर की तलाश

बिहार में पटना सहित छह जिले फिर से लॉक, लगी हैं ये पाबंदियां

सौरव गांगुली ने किया एशिया कप रद्द करने का ऐलान तो पीसीबी ने कहा…

कांग्रेस का मास्टर प्लान, 243 सीटों पर सर्वे कराने के बाद लेगी ये निर्णय

नेपाल ने अब सीतामढ़ी में रोका भारत का सड़क निर्माण कार्य

नेपाल की नादानी! बिहार सीमा के पास नो मेंस लैंड पर बने पुल पर लगाया बोर्ड

बिहार में मास्क पर चढ़ा चुनावी रंग, राजनीतिक सुरक्षा के लिए होगी जंग

फजीहत के बाद नीतीश कुमार के आवास में नहीं खुलेगा कोविड-19 हॉस्पिटल

दरभंगा एयरपोर्ट से अब अक्टूबर में नहीं उड़ेगी विमान, एक और तारीख की हुई घोषणा

कोरोना पर भारी पड़ी आस्‍था, दीवार फांदकर बाबा के दर्शन को पहुंचे भक्त

10-Jul-2020

भोजपुरी गायक की हत्या से फैली सनसनी, सड़क किनारे मिली लाश


बिहार में इन दिनों अपराधी बेखौफ हत्या जैसी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। ताजा मामला प्रदेश की राजधानी पटना का है, जहां भोजपुरी सिंगर रंजन कुमार सिंह की हत्या कर दी गई। पटना के जानीपुर इलाके के सिमार गांव में हत्या करने के बाद सिंगर रंजन कुमार के शव को एनएच 98 के किनारे बाउंड्री के अंदर बालू के ढेर पर फेंक दिया गया। सोमवार सुबह स्थानीय लोगों ने जब शव को देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी। ये घटना पटना के जानीपुर इलाके के सिमरा गांव की है।

घरवालों के मुताबिक 10 दिन पहले ही रंजन को हत्या की धमकी मिली थी। हत्या का आरोप गांव के ही एक शख्स अरुण सिंह और कुख्यात अपराधी माणिक पर लगा है। भोजपुरी गायक की हत्या के बाद पूरे इलाके में आक्रोश फैल गया और भड़की भीड़ ने मौके पर पहुंची जानीपुर थाने की पुलिस से भी धक्का मुक्की की। मृतक के पिता सुनील कुमार ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा है कि उनके बेटे ने 10 दिन पहले ही अपनी हत्या की आशंका जताते हुए थाने में लिखित शिकायत दी थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रंजन को कुछ लोग सोमवार की रात घर से बुलाकर ले गए थे। वह रात में नहीं लौटा। परिजनों ने खोजबीन शुरू की तो मंगलवार सुबह उसका शव मिला। परिजनों और गांव के लोगों ने हत्या के विरोध में शव रखकर एनएच 98 को जाम कर दिया। आक्रोशित परिजन हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। इसके साथ ही परिजनों में स्थानीय पुलिस के खिलाफ भी गुस्सा है।

मामला बिगड़ता देख नौबतपुर व खगौल पुलिस के साथ डीएसपी संजय कुमार पांडेय पहुंचे। मौके पर रैफ को भी बुलाया गया। चार घंटे के बाद लोगों को समझाकर सड़क जाम को खत्म कराया। जाम के कारण अनीसाबाद से लेकर नौबतपुर तक वाहनों की कतार लग गई।