Breaking News :

मिनी आईपीएल में बिहारियों ने किया कमाल, दिल्ली-मुंबई को दी पटकनी

दरभंगा से इन शहरों के लिए इंडिगो भरेगी उड़ान, अब यात्री किराया होगा कम

नए साल में SpiceJet का शानदार ऑफर, सिर्फ 899 रुपये में करें हवाई यात्रा

मधुबनी में लड़की के साथ रेप कर फोड़ दी आंखें, आरोपी गिरफ्तार

नगर निगम को लेकर राघोपुर बलाट पंचायत के दो पूर्व मुखिया आमने-सामने

प्रशांत किशोर ने बंगाल में बीजेपी को दी चुनौती, कहा-ऐसा हुआ तो छोड़ देंगे अपना काम

प्रधानमंत्री कल करेंगे ‘अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय के शताब्दी समारोह’ को संबोधित

भारत में कोविड के मामलों में तेज़ी से गिरावट, संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या तीन लाख पांच हजार

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कही बड़ी बात

दरभंगा एयरपोर्ट को एक और सौगात, इन शहरों के लिए मिलेगी सीधी उड़ान

27-Jul-2021

नीतीश कुमार का राजनीतिक करियर समाप्त करना चाहती है BJP, ऐसे जानें समीकरण


बिहार विधानसभा चुनाव में आज से उम्मीदवारों के नाम का ऐलान होने लगा है। जदयू और राजद दोनों ने ही अपने प्रत्याशियों को पार्टी का सिंबल देना शुरू कर दिया है। हालांकि दोनों की दल ने अभी आधिकारिक तौर पर लिस्ट जारी नहीं की है लेकिन कुछ उम्मीदवारों को पार्टी का सिम्बल दे दिया है। जदयू का सिंबल सीएम आवास और राजद का राबड़ी आवास पर सिंबल दिया जा रहा है।

लोक जनशक्ति पार्टी ने अंतत: बिहार चुनाव अकेले लड़ने का फैसला कल ले लिया। पार्टी ने साफ किया है कि चुनाव के बाद लोजपा के सभी विधायक भाजपा का समर्थन करेंगे। वैसे पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान पहले से कह रहे थे कि हमारा गठबंधन जदयू नहीं, बल्कि भाजपा से है। हम बिहार चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ जाएंगे। चिराग ने बताया कि पार्टी ने तय किया है कि लोजपा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ेगी।

पिछले कुछ महीनों में जिस तरह बिहार में राजनीतिक उठापटक हुआ है उस से यह तो तय लग रहा है कि बीजेपी दो नाव पर पैर रख कर चल रही है। चिराग पासवान ने जिस तरह नीतीश पर निशाना साधा है और बीजेपी खामोश थी उस से साफ़ लग रहा था की बीजेपी चिराग के साथ है। हालांकि जिस तरह चिराग ने बीजेपी आलाकमान की बात नहीं मानी और अलग हो गए उस से अब साफ़ हो गया कि लोजपा बिहार में बीजेपी की बी पार्टी के तौर पर चुनाव लड़ेगी जो नीतीश कुमार को बिहार से झटका देने के लिए काफी है।

रविवार की देर शाम एलजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में पार्टी के अध्‍यक्ष चिराग पासवान ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया। साथ ही बिहार में अलग चुनाव लड़ने की घोषणा की। उन्‍होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी उन सीटों पर चुनाव नहीं लड़ेगी जहां बीजेपी के प्रत्‍याशी होंगे। फिर चुनाव बाद बीजेपी के नेतृत्‍व में बिहार में सरकार बनाने में मदद करेंगे।

चिराग ने यह भी कहा कि हम केंद्र में एनडीए के साथ हैं लेकिन बिहार में नीतीश के खिलाफ। चिराग के इस बयान के बाद भी बीजेपी ने लोजपा से जिस तरह नजदीकी बनाए रखा है उस से यह साफ़ हो रहा है कि बीजेपी अपने बुते बिहार में सत्ता हासिल करना चाहती है और नीतीश का राजनीतिक करियर समाप्त करना चाहती है।

#चुनाव