Breaking News :

बाबरी विध्वंस पर 28 साल बाद आया फैसला, आडवाणी, जोशी, उमा भारती सहित सभी आरोपी बरी

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मेनू कार्ड जारी, रसगुल्ला 15 तो समोसा 8 रुपये का

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: 28 साल बाद आज आएगा फैसला, आडवाणी, उमा भारती सहित 49 आरोपी

महागठबंधन में लगभग फाइनल हो गई सीट शेयरिंग, जानें RJD और कांग्रेस को मिली कितनी सीटें!

नीतीश के JDU में टिकट पाने को लेकर ‘मारामारी’, एक सीट पर 30 दावेदार

देश की पहली रैपिड रेल का FIRST LOOK जारी, 180 KM प्रतिघंटा होगी रफ्तार

लीजेंड सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, 40 हज़ार से अधिक गानों में दी अपनी आवाज

हो गया बिहार विधानसभा चुनाव का ऐलान, जानिए कब और कितने चरणों में होगा चुनाव

कृषि बिल के खिलाफ चक्का जाम, पंजाब में रेलवे ट्रैक पर डटे आंदोलनकारी, कई ट्रेन प्रभावित

शुरू होने से पहले ही विवादों में घिरी दरभंगा हवाई सेवा, Spice Jet ने की धोखाधड़ी

1-Oct-2020

बिहार में 16-31 जुुलाई तक सम्पूर्ण लॉकडाउन, इन सेवाओं पर नहीं रहेगा प्रतिबंध


बिहार में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए बिहार सरकार ने पूरे राज्य में अगले 15 दिन तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। हालांकि इस दौरान सभी इमरजेंसी सेवाएं सुचारू रूप से जारी रहेंगी। बता दें कि सोमवार को इस संबंध में प्रस्ताव तैयार कर लिया गया था। इस पर अंतिम मुहर के लिए मंगलवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक हुई जिसके बाद यह फैसला किया गया।

मुख्य सचिव कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक 16 से 31 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। गृह विभाग को अधिसूचना जारी करने के आदेश दे दिया गया है। मंगलवार को सरकार ने आलाधिकारियों की बैठक में यह निर्णय लिया है। इस बैठक में राज्य में बढ़ते कोरोना के मामलों की समीक्षा के बाद अंतिम तौर पर लॉकडाउन पर सहमति बनी है और आदेश दे दिया गया है।

इस दौरान इमरजेंसी सर्विस सेवा छोड़ कर, परिवहन सेवा, शॉपिंग मॉल आदि को बन्द किया गया है. .वहीं, लॉकडाउन के दौरान धार्मिक संस्थानों में भी ताला लगा रहेगा। जबकि, सब्जी और फल की दुकानें सुबह और शाम को खुलेंगी। गौरतलब है कि, कोरोना से चिंतित प्रशासन ने बिहार के कई जिलों में 10 से 16 जुलाई तक लॉकडाउन लागू किया है।

वाहन परिचालन को लेकर क्या नियम होंगे और सार्वजनिक वाहन चलेंगे या नहीं, इस पर भी निर्णय होगा। किन-किन जरूरी चीजों को कितनी छूट मिलेगी, इसका निर्धारण भी बैठक के दौरान किया जायेगा। बता दें कि बिहार में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

बीते 10 दिनों में रिकॉर्ड मरीज कोरोना के बिहार में सामने आए हैं। इसमें सीएम नीतीश कुमार के पटना स्थित सरकारी आवास पर भी कई लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव मिले हैं। वहीं, बिहार बीजेपी के कई नेता और प्रदेश कार्यालय में तैनात कुल 75 लोग कोविड-19 संक्रमित मिले हैं।

#बिहार चुनाव