Breaking News :

कश्मीर में BJP नेता को आतंकियों ने मारी गोली, अस्पताल में मौत

सुशांत केस: वापस लौटीं फरार रिया चक्रवर्ती, लटकी गिरफ्तारी की तलवार

मुंबई में हर तरफ बाढ़ जैसे हालात, बेपटरी हुई जिंदगियां

बाढ़ विस्थापितों ने पुलिस पर हमला कर पिस्टल छीनी, थानेदार आईसीयू में भर्ती

कोविड-19 अस्पताल में आग लगने से 8 मरीजों की मौत, पीएम ने जताया दुख

चीन में एक और वायरस का कहर, 7 लोगों की मौत, 60 संक्रमित

मधुबनी के गंगासागर तालाब में मछली को लेकर हुआ विवाद, युवक की हत्या

चीन के कहने पर अब ऐसा कदम उठाने वाला है नेपाल

चिराग पासवान के लगातार हमलों से जदयू परेशान, बीजेपी क्यों है चुप?

भगवतीपुर के रियाज को राष्ट्रपति ने दिया शानदार तोहफा

7-Aug-2020

कोरोना पर भारी पड़ी आस्‍था, दीवार फांदकर बाबा के दर्शन को पहुंचे भक्त


सावन के पावन महीने की शुरुआत हो गयी है, लेकिन इस साल कोरोना संकट के कारण तमाम मंदिर व शिवालय बंद पड़े हैं। श्रद्धालु मंदिरों के बाहर ही भगवान शिव की पूजा कर रहे हैं। लेकिन जमुई के गिद्धेश्वर मंदिर में पुलिस के नहीं रहने के कारण श्रद्धालु दीवार फांदकर प्रवेश कर गए। बाद में प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं थानाध्यक्ष ने पहुंचे कर स्थिति पर नियंत्रण किया।

महामारी से बचाव को लेकर फिजिकल डिस्‍टें‍सिंग सहित अन्‍य प्रावधानों के पालन को लेकर प्रशासन सतर्क है, लेकिन लोग हैं कि मान ही नहीं रहे। वे अपने साथ दूसरों का जीवन भी संकट में डाल रहे हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर सभी मंदिर बंद हैं, लेकिन जमुई के गिद्धेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं ने इस प्रावधान की परवाह नहीं की।

खास बात यह रही कि सावन की पहली सोमवारी के अवसर पर गिद्धेश्वर मंदिर में भीड़ होने की संभावना के बावजूद प्रशासन लापरवाह बना रहा। वहां पुलिस तैनात नहीं दिखी। इस कारण श्रद्धालुओं के दीवार फांदकर अंदर जाने से रोकने के लिए कोई नहीं था। जब श्रद्धालु मंदिर में घुस गए, तब बाद में पुलिस पहुंची।

बता दें कि सावन के महीने की शुरुआत कृष्ण पक्ष प्रतिपदा कल यानी 5 जुलाई दिन रविवार को ही सुबह 10.15 से प्रारंभ हो गई थी। लेकिन, उदया तिथि के कारण 6 जुलाई, आज सोमवार को पहला दिन माना गया है और ऐसे में सोमवार का व्रत रखने वाले सुबह 9.25 तक अपनी पूजा प्रारम्भ कर दें।