Breaking News :

पहले चरण के चुनाव के लिए JDU और BJP के सीटों की आधिकारिक घोषणा आज

नीतीश कुमार का राजनीतिक करियर समाप्त करना चाहती है BJP, ऐसे जानें समीकरण

सुशांत केस: AIIMS की रिपोर्ट पर मची हायतौबा, मुंबई पुलिस कमिश्‍नर ने द‍िया बड़ा बयान

53 किलोग्राम की मछली ने बनाया लखपति, बुजुर्ग महिला की रातोंरात खुली किस्‍मत

IPL 2020 पर सट्टेबाजों का साया, इस खिलाड़ी को मिला ऑफर तो BCCI ने शुरू की जांच

सलमान खान ने पूछा कब होगी मेरी शादी, ज्योतिषी ने दिया ऐसा जवाब…

BJP-JDU में सीट शेयरिंग को लेकर बन गई सहमति, चिराग को लेकर अभी भी खींचातानी

तबीयत बिगड़ने के बाद रामविलास पासवान के दिल का हुआ ऑपरेशन

सीट बटवारा होते ही टूट गया महागठबंधन, कांग्रेस ने माना तेजस्वी का लोहा

पिछले 10 वित्त वर्षों में 11 गुणा बढ़ा कृषि बजट, नए कृषि सुधारों से होगा लाभ

22-Oct-2020

देश की पहली रैपिड रेल का FIRST LOOK जारी, 180 KM प्रतिघंटा होगी रफ्तार


भारत की पब्‍लिक ट्रांसपोर्ट का स्‍वरूप अब बदल रहा है। इसी कड़ी में रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) ट्रेन का पहला लुक शुकवार को जनता के सामने आया है। इसके पहले लुक को देखकर आप खुश हो जाएंगे। 180 किलोमीटर की रफ्तार से हवा में बातें करने वाली मेट्रो और बुलेट ट्रेनों जैसी सुविधा लिए आपकी रैपिड रेल आपके सामने है।

आवास एवं शहरी मामलों के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने भारत की पहली रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) ट्रेन के प्रथम लुक को देश के समक्ष रखा। प्रधानमंत्री के ‘मेक इन इंडिया’ नीति के अंतर्गत बॉम्बार्डियर के सावली प्लांट में आरआरटीएस के सारे ट्रेन सेट का होगा निर्माण। सतत एवं ऊर्जा कुशल आरआरटीएस ट्रेन का डिजाइन दिल्ली के प्रसिद्ध लोटस टेंपल से प्रेरित है।

एनसीआरटीसी ने ट्रेनों के निर्माण का काम बॉम्बार्डियर इंडिया को दिया है। सभी ट्रेनें बॉम्बार्डियर इंडिया के सावली प्लांट, गुजरात में बनेंगी। बॉम्बार्डियर ने आरआरटीएस ट्रेनों का डिजाइन हैदराबाद फैसिलिटी में तैयार किया है। वहीं शुक्रवार को लोगों को ट्रेन का असली रूप देखने को मिल गया। दिल्ली से मेरठ तक दो स्थानों को बांटकर कार्य किया जा रहा है।

रैपिड रेल में सुरक्षा आराम और सुविधा का ध्यान रखा गया है। इसे इस तरह डिजाइन किया गया है कि खड़े होकर भी यात्री आराम से सफर कर सकें। दोनों तरफ की सीटों के बीच में पर्याप्त जगह, सामान रखने का रैक बनाए जाएंगे। सभी कोच में मोबाइल/लैपटॉप चार्जिंग सॉकेट बनाए जाएंगे। ट्रेन में वाई फाई की सुविधा भी यात्रियों को मिलेगी।

देश-दुनिया