Breaking News :

दरभंगा से इन शहरों के लिए इंडिगो भरेगी उड़ान, अब यात्री किराया होगा कम

नए साल में SpiceJet का शानदार ऑफर, सिर्फ 899 रुपये में करें हवाई यात्रा

मधुबनी में लड़की के साथ रेप कर फोड़ दी आंखें, आरोपी गिरफ्तार

नगर निगम को लेकर राघोपुर बलाट पंचायत के दो पूर्व मुखिया आमने-सामने

प्रशांत किशोर ने बंगाल में बीजेपी को दी चुनौती, कहा-ऐसा हुआ तो छोड़ देंगे अपना काम

प्रधानमंत्री कल करेंगे ‘अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय के शताब्दी समारोह’ को संबोधित

भारत में कोविड के मामलों में तेज़ी से गिरावट, संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या तीन लाख पांच हजार

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कही बड़ी बात

दरभंगा एयरपोर्ट को एक और सौगात, इन शहरों के लिए मिलेगी सीधी उड़ान

पहले चरण के चुनाव के लिए JDU और BJP के सीटों की आधिकारिक घोषणा आज

15-Jan-2021

खुदाई के दौरान अचानक मिट्टी के अंदर से निकला ऐतिहासिक शिव मंदिर


नदी किनारे बने टीले से रेत की खुदाई चल रही थी कि तभी वहां मौजूद लोग आश्चर्यचकित हो गए। सामने रेत में दबा एक विशालकाय मंदिर नजर आया जो कई साल पुराना बताया जा रहा है। यह मंदिर आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में मंगलवार को निकला है। नेल्लोर जिले के पेरुमल्लपाडु गांव में पेन्ना नदी के किनारे यह मंदिर निकला है।

स्थानीय लोगों का दावा है कि ये मंदिर 200 साल पुराना है। लोगों का कहना है कि भगवान परशुराम ने 101 मंदिर बनवाये थे। उन्हीं में से एक मंदिर का निर्माण पेन्ना नदी के किनारे किया गया था। फिलहाल इस मंदिर की पुरी जानकारी इकट्ठा की जा रही है।

पुरातत्व विभाग के सहायक निदेशक रामसुब्बा रेड्डी ने बताया कि पेन्ना नदी अपना रास्ता बदलती रहती है। ऐसे में हो सकता है कि ये मंदिर पानी के अंदर डूब गया हो। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि ये मंदिर 1850 की बाढ़ में नीचे दब गया हो।

मीडिया की खबरों के अनुसार, इस मंदिर की बनावट ऐतिहासिक नागेश्वर स्वामी मंदिर जैसी प्रतीत होती है। यह माना जाता है कि इस मंदिर का निर्माण भगवान परशुराम ने करवाया था। अभी इस मंदिर के बारे में पुरातत्वविदों के पास कोई ठोस जवाब नहीं है। वे मौके पर जाकर डिटेल स्टडी करेंगे, तब जाकर मंदिर के सही इतिहास के बारे में जानकारी सामने आएगी।