Breaking News :

कश्मीर में BJP नेता को आतंकियों ने मारी गोली, अस्पताल में मौत

सुशांत केस: वापस लौटीं फरार रिया चक्रवर्ती, लटकी गिरफ्तारी की तलवार

मुंबई में हर तरफ बाढ़ जैसे हालात, बेपटरी हुई जिंदगियां

बाढ़ विस्थापितों ने पुलिस पर हमला कर पिस्टल छीनी, थानेदार आईसीयू में भर्ती

कोविड-19 अस्पताल में आग लगने से 8 मरीजों की मौत, पीएम ने जताया दुख

चीन में एक और वायरस का कहर, 7 लोगों की मौत, 60 संक्रमित

मधुबनी के गंगासागर तालाब में मछली को लेकर हुआ विवाद, युवक की हत्या

चीन के कहने पर अब ऐसा कदम उठाने वाला है नेपाल

चिराग पासवान के लगातार हमलों से जदयू परेशान, बीजेपी क्यों है चुप?

भगवतीपुर के रियाज को राष्ट्रपति ने दिया शानदार तोहफा

7-Aug-2020

फजीहत के बाद नीतीश कुमार के आवास में नहीं खुलेगा कोविड-19 हॉस्पिटल


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर कोविड-19 का आधुनिक अस्पताल खुलने और उसमें डॉक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ की नियुक्ति की सूचना पर जमकर विवाद हुआ जिसके बाद पटना मेडिकल कॉलेज ने अपने उस ऑर्डर को निरस्त कर दिया है जिसके अंतर्गत सीएम आवास में स्पेशल हॉस्पिटल बनाए जाने और उसमें 6 डॉक्टर्स तथा तीन नर्स की नियुक्ति प्रस्तावित थी।

दरअसल, सीएम आवास में कोविड-19 हॉस्पिटल खोलने के मुद्दे पर सियासी लड़ाई शुरू हो गई थी। इस मसले को लेकर विपक्ष के नेता हमलावर हो गए थे। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भतीजी के संक्रमित हो जाने के बाद उन्होंने घर में ही वेंटिलेटर युक्त अस्पताल बनवा लिया है, जहां पर 6 डॉक्टर, 2 नर्स व स्वास्थ्य कर्मियों की फौज लगा दी है।

तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कोरोना सैंपल की जांच रिपोर्ट मात्र दो घंटे में मिल जाती है वहीं जब यही जांच आम आदमी की होती है तो रिपोर्ट मिलने में पांच से सात दिन लग जाते हैं। तेजस्वी ने कहा कि अब तो मुख्यमंत्री आवास को वैंटिलेटर से युक्त अस्पताल में बदल दिया गया है जबकि प्रदेश में गरीब मेडिकल सुविधा के लिए तरसते रहते हैं।

बता दें कि सीएम आवास में कोविड-19 हॉस्पिटल खोले जाने के संबंध में पीएमसीएच के अधीक्षक ने एक पत्र भी जारी किया था। इस पत्र में कहा गया था कि अपर सचिव स्वास्थ्य विभाग द्वारा फोन पर दिए गए निर्देश पर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सीएम आवास पर वेंटिलेटर युक्त अस्पताल का संचालन होना है। यहां 24 घंटे 3 डॉक्टर और 3 नर्स स्टाफ के तौर मौजूद रहेंगे।