Breaking News :

बाबरी विध्वंस पर 28 साल बाद आया फैसला, आडवाणी, जोशी, उमा भारती सहित सभी आरोपी बरी

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मेनू कार्ड जारी, रसगुल्ला 15 तो समोसा 8 रुपये का

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: 28 साल बाद आज आएगा फैसला, आडवाणी, उमा भारती सहित 49 आरोपी

महागठबंधन में लगभग फाइनल हो गई सीट शेयरिंग, जानें RJD और कांग्रेस को मिली कितनी सीटें!

नीतीश के JDU में टिकट पाने को लेकर ‘मारामारी’, एक सीट पर 30 दावेदार

देश की पहली रैपिड रेल का FIRST LOOK जारी, 180 KM प्रतिघंटा होगी रफ्तार

लीजेंड सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, 40 हज़ार से अधिक गानों में दी अपनी आवाज

हो गया बिहार विधानसभा चुनाव का ऐलान, जानिए कब और कितने चरणों में होगा चुनाव

कृषि बिल के खिलाफ चक्का जाम, पंजाब में रेलवे ट्रैक पर डटे आंदोलनकारी, कई ट्रेन प्रभावित

शुरू होने से पहले ही विवादों में घिरी दरभंगा हवाई सेवा, Spice Jet ने की धोखाधड़ी

1-Oct-2020

विश्व पुस्तक मेला मे मैथिली मचान’कें आब नहि चाही मैथिली मीडियाक संग


समाचार मिथिला, दिल्ली: विश्व पुस्तक मेला साल भरि बाद पुनः सजि चुकल अछि जतय विगत तीन बरख सं मैथिली भाषाक पाठक आ लेखक कें आकर्षित करबाक लेल ‘मैथिली मचान’क सेहो विस्तृत रूप देखबा में आबि रहल अछि। मैथिली मचान गाम हो वा शहर सब ठाम समय-समय पर मैथिली भाषा’क पाठकक लेल उपस्थित रहैत अछि। जकर परिणाम स्वरुप मैथिली मचानकें आजुक समय मे विश्व पटल पर पहिचान भेटल आ मचान डेगे-डेगे बहुत दूरक रस्ता सेहो तय केलक। मैथिली मचनाक कार्यकर्ता लोकनिक मैथिलीक प्रति समपर्पण सराहनीय अछि मुदा मैथिली भाषा आ साहित्य’क विकास मैथिली मीडियाक बिना संभव कोना?

अपन तीन सालक यात्राक दौरान मैथिली मचान बहुत ठाम स्टॉल लगा कय पाठक कें पुस्तक उपलब्ध करबैत रहल अछि जाहि मे मैथिली मीडिया सदैव मिथिला मचानक संग रहल मुदा आब बुझना जाइत अछि जे समृद्धि भेटलाक बाद मैथिली मचानकें मैथिली मीडियाक संग नहि चाही। समाचार मिथिला’क संपादक शिवेश झा मैथिली मचानक बिना कोनो आमंत्रण आ प्रेस विज्ञप्ति’कें मचानक सम्मानित संस्थापक सदस्य सं शुक्रदिन राति मे फोन पर किछु जानकारी साझा करबाक लेल आग्रह केलनि मुदा ओ व्यस्तताक बहाना बना फोन काटि देलनि।

मैथिली मीडियाक प्रति मैथिली मचनाक की सोच से नहि जानि मुदा जहिना अंग्रेजी मीडियाक भरोसे हिन्दी भाषा आ साहित्यक विकास संभव नहि तहिना मैथिली भाषा आ साहित्य मैथिली मीडिया सं भिन्न दोसर भाषी मीडियाक माध्यमे आगू नहि बढ़त। ज्ञात हो कि मैथिली मचानक शुरूआती समय मे मैथिली मीडियाक सहयोग सराहनीय रहल अछि जकर परिणाम स्वरुप मचान आजुक समय में अप्पन स्वरुपक विस्तार करबा मे सफलताक चान छुबा मे सफल रहल अछि।

मैथिली मीडियाक संग एहेन संयोग मैथिली मचाने संग नहि बहुतो मैथिली भाषी संस्थानक संग होइत रहल अछि जकर संस्थापक मैथिलीक लेल काज करबाक दावा करैत रहैत छथि। मैथिली मीडियाक लेल उत्साहित युवा वर्ग जं काज कए रहल अछि त सपोर्ट हेबाक चाही। नहि बेसी किछुए पोर्टल, पत्रिका आ यूट्यूब चैनल सं यदि मैथिली मीडिया चलि रहल अछि त कैल्ह विस्तार सेहो संभव छैक मात्र सहयोगक आवश्यकता छैक।