Breaking News :

पहले चरण के चुनाव के लिए JDU और BJP के सीटों की आधिकारिक घोषणा आज

नीतीश कुमार का राजनीतिक करियर समाप्त करना चाहती है BJP, ऐसे जानें समीकरण

सुशांत केस: AIIMS की रिपोर्ट पर मची हायतौबा, मुंबई पुलिस कमिश्‍नर ने द‍िया बड़ा बयान

53 किलोग्राम की मछली ने बनाया लखपति, बुजुर्ग महिला की रातोंरात खुली किस्‍मत

IPL 2020 पर सट्टेबाजों का साया, इस खिलाड़ी को मिला ऑफर तो BCCI ने शुरू की जांच

सलमान खान ने पूछा कब होगी मेरी शादी, ज्योतिषी ने दिया ऐसा जवाब…

BJP-JDU में सीट शेयरिंग को लेकर बन गई सहमति, चिराग को लेकर अभी भी खींचातानी

तबीयत बिगड़ने के बाद रामविलास पासवान के दिल का हुआ ऑपरेशन

सीट बटवारा होते ही टूट गया महागठबंधन, कांग्रेस ने माना तेजस्वी का लोहा

पिछले 10 वित्त वर्षों में 11 गुणा बढ़ा कृषि बजट, नए कृषि सुधारों से होगा लाभ

3-Dec-2020

पर्चा दाखिल करने के बाद जीत के प्रति आश्वस्त दिखे ‘रजनीकांत पाठक’


बिहार विधानसभा चुनाव के साथ-साथ बिहार विधान परिषद चुनाव के लिए भी सरगर्मी तेज हो गई है। एक ओर जहां विधानसभा चुनाव को लेकर टिकटों की मारामारी जारी है वहीं विधान परिषद चुनाव को लेकर पर्चा दाखिल शुरू हो गया है। विधान परिषद चुनाव के हॉट सीटों में इस बार दरभंगा स्नातक क्षेत्र भी शामिल है जिसका मुख्य कारण है समाजसेवी रजनीकांत पाठक का दरभंगा स्नातक से पर्चा दाखिल करना।

रजनीकांत पाठक अपने समर्थकों के साथ आज गुरूवार को पर्चा दाखिल करने के बाद पत्रकारों से बात की और जीत के प्रति आश्वस्त दिखे। रजनीकांत पाठक वंशवाद की राजनीति के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरे हैं। बता दें कि दरभंगा स्नातक क्षेत्र के लिए 22 अक्टूबर को मतदान किया जाना है। जिसके लिए 28 सितंबर से 5 अक्टूबर तक नामांकन होना है। 

नामांकन पत्र भरने के बाद उन्होंने कहा कि इस बार नेता नहीं सेवक चुनिए, ताकि हर आदमी गर्व से कहे कि हमने रजनीकांत पाठक को चुना है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के राजनीतिक परिवेश में परिवारवाद का बोलवाला है जिसे समाप्त करना होगा, मैं वादा करता हूं कि यदि मैं चुनकर आऊंगा तो मैं खुद ही क्षेत्र में जाकर समस्या के अनुरूप काम करूंगा।

समाजसेवक के रूप में विख्यात रजनीकांत पाठक ने कहा कि मैं मिथिला का बेटा भी हूं और दामाद भी इसलिए मुझे उम्मीद है कि मुझे पूरा समर्थन मिलेगा। उन्होंने कहा कि दरभंगा मेरा ससुराल है लेकिन जब मैं दाम्पत्य जीवन में आया उससे पहले से ही यहां से लगाव रहा है यहां काम करता रहा हूं यहां बहुत स्नेह मिलता रहा है और उम्मीद करता हूं कि आगे भी मिलेगा।

ख़बर मिथिला