Breaking News :

मिनी आईपीएल में बिहारियों ने किया कमाल, दिल्ली-मुंबई को दी पटकनी

दरभंगा से इन शहरों के लिए इंडिगो भरेगी उड़ान, अब यात्री किराया होगा कम

नए साल में SpiceJet का शानदार ऑफर, सिर्फ 899 रुपये में करें हवाई यात्रा

मधुबनी में लड़की के साथ रेप कर फोड़ दी आंखें, आरोपी गिरफ्तार

नगर निगम को लेकर राघोपुर बलाट पंचायत के दो पूर्व मुखिया आमने-सामने

प्रशांत किशोर ने बंगाल में बीजेपी को दी चुनौती, कहा-ऐसा हुआ तो छोड़ देंगे अपना काम

प्रधानमंत्री कल करेंगे ‘अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय के शताब्दी समारोह’ को संबोधित

भारत में कोविड के मामलों में तेज़ी से गिरावट, संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या तीन लाख पांच हजार

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कही बड़ी बात

दरभंगा एयरपोर्ट को एक और सौगात, इन शहरों के लिए मिलेगी सीधी उड़ान

27-Jul-2021

मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी सहित इन जिलों के प्रवासी श्रमिकों को रेलवे देगा रोजगार


लॉकडाउन के चलते रोजगार खो चुके और वापस अपने गृह राज्य पहुंच चुके प्रवासी मजदूरों को भारतीय रेलवे ने रोजगार देने का ऐलान किया है। गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत रेलवे प्रवासी श्रमिकों रोजगार देने का निर्णय लिया है। इसके तहत रेलवे में होने वाले कार्यों में इन श्रमिकों को काम करने का अवसर दिया जायेगा।

बताया जा रहा है कि सहरसा, सुपौल, पूर्णिया, अररिया, खगड़िया, बेगूसराय, समस्तीपुर, दरभंगा, मधुबनी, सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण और मुजफ्फरपुर जिले में संचालित रेलवे के कार्यों में प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिए जाएंगे। पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि 31 अक्टूबर तक प्रत्येक प्रवासी श्रमिक को 125 दिनों तक का रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।

बता दें कि समस्तीपुर रेल मंडल में 14 जिलों में प्रवासी श्रमिकों को रेलवे के तहत होने वाले कार्यो में रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। फिलहाल इसकी तैयारी शुरू कर दी गयी है। बिहार राज्य के 32 जिलों के प्रवासी श्रमिकों को गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा।

पूर्व मध्य रेल द्वारा सभी जिले के लिए एक-एक कॉर्डिनेटर नियुक्त किया गया है। कॉर्डिनेटर रेलवे के जेऐजी संवर्ग के अधिकारी होंगे। जो यह सुनिश्चत करेंगे कि रेलवे से संबंधित निर्माण और रेल विकास कार्य सुचारू रूप से बिना किसी व्यवधान के चलता रहे। अगर इसमें कोई समस्या उत्पन्न होती है तो वे इसकी रिपोर्ट संबंधित डीएम और मंडल रेल प्रबंधक को सौंपेंगे।