Breaking News :

पहले चरण के चुनाव के लिए JDU और BJP के सीटों की आधिकारिक घोषणा आज

नीतीश कुमार का राजनीतिक करियर समाप्त करना चाहती है BJP, ऐसे जानें समीकरण

सुशांत केस: AIIMS की रिपोर्ट पर मची हायतौबा, मुंबई पुलिस कमिश्‍नर ने द‍िया बड़ा बयान

53 किलोग्राम की मछली ने बनाया लखपति, बुजुर्ग महिला की रातोंरात खुली किस्‍मत

IPL 2020 पर सट्टेबाजों का साया, इस खिलाड़ी को मिला ऑफर तो BCCI ने शुरू की जांच

सलमान खान ने पूछा कब होगी मेरी शादी, ज्योतिषी ने दिया ऐसा जवाब…

BJP-JDU में सीट शेयरिंग को लेकर बन गई सहमति, चिराग को लेकर अभी भी खींचातानी

तबीयत बिगड़ने के बाद रामविलास पासवान के दिल का हुआ ऑपरेशन

सीट बटवारा होते ही टूट गया महागठबंधन, कांग्रेस ने माना तेजस्वी का लोहा

पिछले 10 वित्त वर्षों में 11 गुणा बढ़ा कृषि बजट, नए कृषि सुधारों से होगा लाभ

3-Dec-2020

हाथरस केस पर योगी ने तोड़ी चुप्पी, कहा-अपराधियों का समूल नाश सुनिश्चित


उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ रेप और क्रूर हत्या के मामले में प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने चुप्पी तोड़ी है। शुक्रवार को उन्होंने बलात्कारियों को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि माताओं-बहनों के सम्मान-स्वाभिमान को क्षति पहुंचाने वाले का समूल नाश सुनिश्चित है। उन्होंने प्रदेश के लोगों को आश्वासन दिया है कि उनकी सरकार प्रत्येक माता-बहन को सुरक्षा और विकास देने के लिए संकल्पबद्ध है।

होने कहा महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध और हाथरस कांड में पुलिस और प्रशासन के रवैये पर उठ रहे सवालों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को यह बयान दिया है। सीएम योगी ने ट्वीट किया, उत्तर प्रदेश में माताओं-बहनों के सम्मान-स्वाभिमान को क्षति पहुंचाने का विचार मात्र रखने वालों का समूल नाश सुनिश्चित है। इन्हें ऐसा दंड मिलेगा जो भविष्य में उदाहरण प्रस्तुत करेगा। आपकी उत्तर प्रदेश सरकार प्रत्येक माता-बहन की सुरक्षा व विकास हेतु संकल्पबद्ध है।

इस पूरे मामले पर विपक्षी पार्टियां कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार पर निशाना साध रही हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सीएम योगी से इस्तीफा मांग रही हैं, तो बसपा सुप्रीमो मायवती कह रही हैं कि ​वह गोरखपुर में जाकर मठ चलाएं। ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के सांसद हाथरस जाने की कोशिश में यूपी पुलिस से भिड़ रहे हैं। पुलिस और प्रशासन के रवैए पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

इस पूरे मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं। आज पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे तृणमूल कांग्रेस के सांसदों को यूपी पुलिस ने वापस लौटा दिया। इन सांसदों ने दिल्ली से 200 किमी का सफर तय कर लिया था, लेकिन गांव पहुंचने से ऐन पहले उन्हें रोककर वापस लौटा दिया गया।

देश-दुनिया